Home Amazing Facts Tik Tok के बाद MPL गेमिंग एप प्ले स्टोर से हटी, जानिए...

Tik Tok के बाद MPL गेमिंग एप प्ले स्टोर से हटी, जानिए वजह

83
0

नोएडा : यहां लोकप्रिय गेमिंग ऐप, मोबाईल प्रीमियर लीग (एमपीएल) एन्ड्रॉयड प्ले स्टोर से हटा दिया गया है। इसका कारण शायद सट्टेबाजी के नियमों का पालन न करना है।मोबाईल प्रीमियर लीग (एमपीएल) एक कौशल आधारित ई-ंउचयस्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म है, जहां यूज़र्स मोबाईल गेम खेलकर नकद राशि जीत सकते हैं।

गूगल की नीति के अनुसार सट्टेबाजी के खेल या ऐसे ऐप्स, जहां वर्चुअल स्पोर्ट्स के बदले पैसे मिलते हैं, उसकी अनुमति केवल यूके में है। एमपीएल के मामले में यह ऐप एपीके फाईल डाउनलोड के माध्यम से अभी भी डाउनलोड की जा सकती है। यह लिंक कंपनी की वेबसाईट पर उपलब्ध है।

एमपीएल के एन्ड्रॉयड और आईओएस पर 25 मिलियन से ज्यादा रजिस्टर्ड यूज़र हैं। एमपीएल के ज्यादातर यूज़र भारत में हैं और नॉन-ंउचयमेट्रो शहरों में रहते हैं। मोबाईल प्रीमियर लीग (एमपीएल) एक मोबाईल पर केंद्रित ईस्पोर्ट्स गेमिंग
प्लेटफॉर्म है, जो बैंगलुरु में स्थित है।

हाल ही में इसने घोषणा की कि इसने सेक्वा इंडिया, टाईम्स इंटरनेट और गोवेंचर्स द्वारा 35.5 मिलियल डॉलर की सीरीज़ ए फंडिंग एकत्रित कर ली है। कंपनी के बयान के अनुसार वर्तमान फंडिंग का उपयोग प्रोडक्ट की मार्केटिंग और भारत में यूज़र की संख्या ब-सजय़ाने के लिए किया जाएगा।

एमपीएल का स्वामित्व गैलेक्टस फनवेयर टेक्नॉलॉजी प्राइवेट लिमिटेड के पास है। इसका लॉन्च पिछले साल सितंबर में किया गया था। एमपीएल मोबाईल गेमर्स को एक मंच प्रदान करता है, जो गेमिंग की शैलियों, जैसे आर्केड, कौशल-ंउचयआधारित/पज़ल, एडवेंचर गेम्स, स्पोर्ट्स आदि पर केंद्रित है। यह अपने प्लेटफॉर्म पर नकद पुरस्कार के साथ मल्टीप्लेयर टूर्नामेंट भी आयोजित करता है।