Home Amazing Facts आम्रपाली फ्लैट खरीदारों के लिए बुरी खबर, अथॉरिटी ने खड़े किए हाथ

आम्रपाली फ्लैट खरीदारों के लिए बुरी खबर, अथॉरिटी ने खड़े किए हाथ

119
0

नोएडा : नोएडा और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट से कहा कि आम्रपाली समूह की रुकी हुई परियोजनाओं का निर्माण करने के लिए उनके पास पर्याप्त संसाधन और विशेषज्ञता नहीं है।

साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि इस प्रोजेक्ट को उच्चाधिकार प्राप्त समिति की निगरानी में किसी बड़े बिल्डर को सौंपने का सुझाव भी दिया। उन्होंने कहा कि समूह के खिलाफ वे लीज एग्रीमेंट निरस्त करने जैसी कोई कार्रवाई नहीं कर सकें। बड़ी संख्या में घर खरीदारों के होने और राजनीतिक रसूख के कारण उन्होंने कदम नहीं उठाया समूह ने कभी समय पर भुगतान नहीं किया।

8 मई को शीर्ष कोर्ट ने कहा था कि वह आम्रपाली समूह की सभी 15 प्रमुख आवासीय संपत्तियां नोएडा और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को सौंप देगा। इसका कारण यह है कि आम्रपाली 42000 परेशान घर खरीदारों के प्रति अपनी जवाबदेही पूरी करने में विफल रहा।

जस्टिस अरुण मिश्र और जस्टिस यूयू ललित की पीठ ने प्रबंधन नियंत्रण कौन लेगा और कौन सा बिल्डर आम्रपाली की रुकी परियोजनाओं का काम पूरा कराएगा के सवाल पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। कोर्ट ने नोएडा प्राधिकरण को यह बताने के लिए कहा कि अक्सर भुगतान में चूक करने वाले आम्रपाली समूह के खिलाफ उसने क्या कार्रवाई की।

आपको बता दें आम्रपाली के निवेशकों के लिए पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट की ओर से आई राहत की खबर अब निवेशकों के लिए चिंता का विषय बन रही है। इसकी वजह नोएडा व ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण द्वारा सुप्रीम कोर्ट के सामने अधूरे प्रोजेक्ट को पूरा न करने की असमर्थता जताना है। इससे एक बार फिर निवेशकों के सपने धूमिल होते नजर आ रहे हैं। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने दोनों प्राधिकरणों को अपने यहां के प्रोजेक्टों को पूरा करने की बात कही थी।