Home Amazing Facts आखिर क्यों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए चुनावी सफर पार करना होगा...

आखिर क्यों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए चुनावी सफर पार करना होगा मुश्किल

102
0

नई दिल्ली : जैसा कि आप सब जानते हैं कि लोकसभा चुनाव 2019 जल्द ही शुरू होने वाले हैं 2019 लोकसभा चुनाव 7 चरणों में होंगे जिसकी घोषणा भारत के मुख्य चुनाव आयोग के सुनील अरोड़ा ने की थी।

बता दें लोकसभा चुनाव का पहला चरण 11 अप्रैल को होगा जिसमें 20 राज्य व 91 सीटें होंगी। ऐसे ही दूसरा चरण 18 अप्रैल ,13 राज्य, 97 सीटें, तीसरा चरण 23 अप्रैल 14 राज्य, 115 सीटें, चौथा चरण 29 अप्रैल, 9 राज्य, 71 सीटें, पांचवा चरण 6 मई, 7 राज्य, 51 सीटें, छठवां चरण 12 मई ,7 राज्य, 59 सीटें, सातवां चरण 19 मई, 8 राज्य, 59 सीटें को होने तय हुए हैं। मतों की गिनती 23 मई को होगी।

बताते चलें लोकसभा के साथ ही ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और आंध्र प्रदेश विधानसभा के चुनाव भी होंगे। 3 बड़े राज्य उत्तर प्रदेश पश्चिम बंगाल और बिहार में सातों चरणों में मतदान होगा। 2019 की होने वाले आम चुनावों में NDA, UPA और महागठबंधन मुख्य रूप से चुनावी मैदान में है, जिसमे NDA के प्रधानमंत्री उम्मीदवारी वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, UPA ओर महागठबंधन के उम्मीदवार की कोई औपचारिक घोषणा नही हुई है लेकिन UPA में राहुल गांधी और महागठबंधन में मायावती अपनी उम्मीदवारी बातो से बातो में ठोक चुके हैं।

अब देखना ये है की इन आम चुनावों में किसकी किस्मत का डंका बजेगा। वैसे वर्तमान प्रधानमंत्री का पलड़ा भारी मना जा रहा है लेकिन उत्तर प्रदेश में हुए महागठबंधन उनकी जीत के बीच एक बड़ी चुनौती पेश इर सकता है क्योंकि सपा और बसपा का एक अपना ही जनाधार है जो कभी भी इधर से उधर नही होता। प्रधानमंत्री मोदी को काफी मशक्कत करनी पड़ सकती हैं। उधर राज्यस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हाल ही में हुए विधान सभा चुनावों के नतीजे कांग्रेस के पक्ष में गए लेकिन छत्तीसगढ़ को छोड़ कर राजस्थान और मध्य प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस के बीच बराबर कांटे की टक्कर मानी जा रही है।

उधर दक्षिण भारत मे भी मायावती ने भी दक्षिण भारत के एक पॉपुलर एक्टर पवन कलयाण की पार्टी के साथ गठबंधन कर के सबको चौंका दिया क्योंकि दक्षिण भारत मे पवन कल्याण की अपनी अलग ही फैंन फॉलोविंग है। इसका मतलब इस बार किसी की भी राह आसान नही होने वाली।क्योंकि 3 गठबंधन पूरी मजबूती से चुनावी मैदान में है।पिछले चुनाव यानी 2014 के लोकसभा चुनाव का ऐलान 5 मार्च 2014 को किया गया था मतदान 7 अप्रैल को शुरू होकर 9 चरणों में 12 मई को खत्म हुए थे जिनके नतीजे 16 मई को घोषित हुए थे नतीजों में भारतीय जनता पार्टी को बहुमत हासिल हुआ था और दूसरे सहयोगी दलों के साथ एनडीए की सरकार बनी थी।

अब यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि आखिरकार सरकार किसकी बनती है क्या सरकार भारतीय जनता पार्टी की होगी या सरकार उनकी होगी जिन्होंने महागठबंधन कर कर एकजुट हो गए हैं मतदान के नतीजे इस बार काफी दिलचस्प होने वाले हैं।