Home news गाजियाबाद: घोर कलयुगी बाप अपनी सोतेली बेटी के साथ करता था गलत...

गाजियाबाद: घोर कलयुगी बाप अपनी सोतेली बेटी के साथ करता था गलत काम

882
0

पत्नी के विरोध करने पर दिया तलाक तलाक तलाक

अधिकतर सुना जाता है घोर कलयुग के बारे में और बताते हैं घोर कलयुग में अजीब और अलग-अलग कारनामे सामने आएंगे लेकिन आपको बता दें कि घोर कलयुग अभी से देखा जाने लगा है क्योंकि दिल्ली से सटे गाजियाबाद में एक 75 साल के कलयुगी बाप ने अपनी ही बेटी को अपना हवस का शिकार बनाने की कोशिश की बेटी ने जब अपनी आप बीती अपनी मां को बताई तो मां के पैरों से जमीन खिसक गई मानो मां ने अपनी मृत्यु स्वयं देख ली हो क्योंकि एक पिता ने अपनी बेटी को हवस का शिकार बनाया था


मां ने जब इसका विरोध किया तभी समसुद्दीन ने मां और बेटी को अपने ही घर के एक कमरे में बंधक बनाकर रख दिया और उसके साथ मारपीट करने लगा महिला और उसकी बेटी ने किसी तरह से वहां से निकल कर अपनी जान बचाई 75 साल के कलयुगी बाप ने सोचा नहीं था की ये हरकत उसकी बीवी को पता लगेगी अपनी 7 साल की बच्ची के साथ घिनौनी हरकत करता था यह हरकत एक बार नहीं काफी बार यह कलयुग की बात कर चुका था निकाह के बाद से ही समसुद्दीन अपनी सौतेली बेटी के साथ गलत हरकत करने लगा था और बच्ची को डराता था और धमका तथा कि वह यह बात किसी को भी ना बताए आपको बता दें कि थाना इंदिरापुरम क्षेत्र में आशियाना ग्रीन नामक सोसायटी है जिसमें समसुद्दीन अपनी दूसरी पत्नी के साथ रहा करता है पत्नी के साथ उसकी बेटी भी रहा करती है समसुद्दीन की पहली बीवी के मरने के बाद समसुद्दीन ने दूसरी शादी कर ली दूसरी बीवी का पति भी पहले मर चुका था जिससे महिला की एक बेटी भी थी समसुद्दीन ने दूसरी शादी करके अपनी सौतेली बेटी को भी अपना लिया लेकिन मां बेटी को यह नहीं पता था कि समसुद्दीन के अंदर एक हैवान जाग चुका था वह अपनी हवस के लिए उस बच्ची को अपना रहा है महिला ने इस पूरे मामले की शिकायत मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री और एसएसपी गाजियाबाद से की है महिला ने एसएसपी गाजियाबाद को यह भी बताया की महिला ने इसकी शिकायत थाने में की थी थानेदार ने महिला की सुनवाई नहीं की बल्कि महिला को ही डरा धमकाकर थाने से बाहर भगा दिया

एसएसपी गाजियाबाद के पास भी जा चुकी हे महिला एसएसपी गाजियाबाद ने कहा था न्याय दिलवाया जाएगा

महिला अपनी बच्ची के साथ एसएसपी गाजियाबाद के पास भी जा चुकी हे एसएसपी गाजियाबाद ने भरोषा दिलाया था की महिला के साथ न्याय होगा लेकिन न्याय के नाम से सिर्फ करी गई जाँच महिला को कभी सीओ , कभी आइओ तो कभी थाने के कोतवाल बुलाते हैं और न्याय का भरोसा दिलाते हैं

इसके बाद

मोदी सरकार में महिला को मिला तलाक तलाक तलाक