Home Latest News स्कूल की तरह डिग्री कॉलेजों में रोज होगी प्रार्थना

स्कूल की तरह डिग्री कॉलेजों में रोज होगी प्रार्थना

116
0

नोएडा/आकांक्षा त्रिपाठी: नैतिक मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी ने एक नया नियम लागू कर दिया है इस नियम के तहत अब स्कूलों के साथ-साथ सभी डिग्री कॉलेजों में भी में दिसंबर से प्रार्थना शुरु होगी।क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी ने नोएडा समेत नौ जनपदों के समस्त कॉलेजों को पत्र लिखकर इस बारे में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जल्द ही डिग्री कॉलेजों में प्रार्थना शुरू की जाएगी।

क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ़ राजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि प्रदेश सरकार के महाविद्यालयों में छात्र-छात्राओं में नैतिक मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए कक्षा शुरू होने से पहले ‘इतनी शक्ति हमें दो ना दाता, मन का विश्वास कमजोर न होना’ प्रार्थना होगी। इसके लिए सभी विद्यार्थी और शिक्षक महाविद्यालय में एक स्थान पर एकत्र होंगे। इसके बाद राष्ट्रगान होगा। इसके बाद दो विद्यार्थी विभिन्न विषयों और महापुरुषों के विचार बताएंगे। साथ ही, मुख्य समाचार बताएंगे।

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि नियमित प्रार्थना शुरू होने से महाविद्यालयों में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होगा। छात्रों का उत्साह भी बढ़ेगा। इसके अलावा उनका तनाव दूर करने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि प्रार्थना के बारे में चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से संबद्ध गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद समेत मेरठ-सहारनपुर मंडल के नौ जनपदों के समस्त शासकीय और निजी महाविद्यालयों को पत्र लिखकर दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं। यह योजना सबसे पहले 70 शासकीय, अशासकीय, अनुदानित महाविद्यालयों में शुरू होगी। इनमें गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद के 14 महाविद्यालय हैं। इनमें दिसंबर से प्रार्थना शुरू कर दी जाएगी। इनमें 25 हजार छात्र-छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रही हैं। नौ जनपदों में कुल 1050 महाविद्यालय चल रहे हैं। इसके बाद क्षेत्र के समस्त निजी कॉलेजों में यह व्यवस्था लागू की जाएगी।

बता दें कि कई निजी कॉलेजों में पहले से ही प्रार्थना हो रही है उनमें आईएमएस कॉलेज भी सामिल है. आईएमएस समेत कई निजी कॉलेजों में पहले से ही प्रार्थना हो रही है। आईएमएस के स्कालर प्रोग्राम के हेड डॉ़ ताजीन रहमान ने बताया कि कॉलेज में कक्षाएं शुरू होने से पहले प्रार्थना होती है। यदि प्रशासन के ओर से कोई आदेश मिलता है तो उसका पालन किया जाएगा। महाविद्यालय में जल्द प्रार्थना शुरू की जाएगी। इसके लिए तैयारी की जा रही है। जल्द ही छात्र-छात्राओं को नोटिस के माध्यम से इस बारे में सूचित कर दिया जाएगा।