World Aids Day 2018: असुरक्षित यौन संबंधों से ही नहीं इन कारणों...

World Aids Day 2018: असुरक्षित यौन संबंधों से ही नहीं इन कारणों से भी हो सकता है एड्स –

46
0
SHARE

एचआईवी वायरस से फैलने बीमारी एड्स एक ऐसी बीमारी है, जिसे सिर्फ बचाव से रोका जा सकता है। इसका इलाज अभी तक संभव नहीं हो पाया है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं आखिर क्या है एड्स, यह कैसे और क्यों फैलता है और इस बीमारी से कैसे बचा जा सकता है। इसके अलावा एड्स की सबसे बड़ी वजह है असुरक्षित यौन संबंध। आइए जानते हैं एड्स से बचने के लिए किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे इस लाइलाज बीमारी से बचा जा सके।

एड्स है क्या
एड्स एक गंभीर बीमारी है जो मानव इम्यूनोडिफीसिअन्सी वायरस (HIV) के संक्रमण के कारण होती है। एक से ज्यादा लोगों के साथ असुरक्षित शारीरिक संबंध बनाने से एचआईवी संक्रमण हो सकता है। इसके अलावा संक्रमित रोगी का ब्लड किसी व्यक्ति को चढ़ाने, संक्रमित ऑर्गन किसी व्यक्ति को ट्रांसप्लांट करने से भी व्यक्ति को एड्स हो जाता है।अगर कोई व्यक्ति प्रतिदिन एचआईवी संक्रमित पुरूष या महिला से संबध बनाता है तब भी एड्स के वायरस का शरीर में प्रवेश कर सकते हैं।

जाने क्या है एड्स के लक्षण
वजन घटना
शरीर में लाल चकत्ते होना
रात में पसीना आना
गला सुखना
मांसपेशियों में दर्द
ठंड लगना

किन कारणों से हो सकता है एड्स
यदि बच्चे को जन्म देते समय मां के शरीर के अंदर (HIV) वायरस मौजूद है, तो उसका होने वाला बच्चा भी इस बीमारी से पीड़ित हो सकता है, लेकिन सही समय पर इस बीमारी का इलाज मिलने पर यह ठीक भी हो जाता है।इसके अलावा किसी एचआईवी एड्स से पीड़ित व्यक्ति को लगाई हुई सुई दूसरे व्यक्ति के शरीर में लगाने से भी एचआईवी फैल सकता है। एड्स से संक्रमित व्यक्ति का खून बिना जांच किए अगर किसी दूसरे व्यक्ति के शरीर में चढ़ा दिया जाता है तो भी एड्स हो सकता है।

अगर आपको एचआईवी है तो आप रोज समय पर दवा लें यह आपको लंबे समय तक स्वस्थ रख सकता है। दरअसल, हमारे समाज में एड्स को लेकर बहुत गलत धारणा लोगों के अंदर है जो एड्स होने के गलत कारण बताते हैं।
कीड़े काटने से
एचआइवी मरीज के पसीने से
एड्स मरीजों के साथ खाने से
एचआइवी मरीजों के छींकने या खांसने से। दरअसल, इनमें से किसी भी कारण से एड्स नहीं फैलता है।