अमिका को मिला सोशल वर्क का ”ऑस्कर”, मूल रूप से हैं...

अमिका को मिला सोशल वर्क का ”ऑस्कर”, मूल रूप से हैं भारतीय

60
0
SHARE

भारतीय मूल की लड़की अमिका जॉर्ज को गोलकीपर्स ग्लोबल गोल अवॉर्ड 2018 से नवाजा गया है. इस अवॉर्ड को सोशल वर्क के क्षेत्र का ऑस्कर  कहा जाता है. बिल और मि‍लिंडा गेट्स फाउंडेशन ने 2017 में गोलकीपर्स की शुरुआत की थी. इस समारोह में सबसे अमीर व्यक्ति‍ बिल गेट्स भी मौजूद थे.

बता दें कि अमिका जॉर्ज को #FreePeriods (फ्री पीरियड) कैंपेन के लिए यह अवॉर्ड दिया गया है. अमिका ने इस कैंपेन के लिए बेहद मेहनत की थी. उन्होंने इस कैंपेन के लिए 2017 में हजारों लोगों को डाउनिंग स्ट्रीट में प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित किया था.

इस कैंपेन के तहत अमिका ने स्कूल में पढ़ने वाली गरीब लड़कियों के लिए फ्री सेनेटरी पैड की मांग की थी. अमिका 18 साल की कम उम्र में ही दुनियाभर में जानी मानी एक्ट‍िविस्ट बन गई हैं. उनके इस कैंपेन के बाद यूके सरकार ने इस ओर 1.5 मिलियन पाउंड की ग्रांट देने की घोषणा की.

जिससे उन हजारों लड़कियों को मदद मिली जो पीरियड की वजह से स्कूल नहीं जा पाती थीं. अमिका के बाबा-दादी केरला से यूके गए थे.अमीका बचपनसे ही यूके में ही रह रहा हैं. अमिका का कहना है कि प्लान इंटरनैशनल की रिपोर्ट के अनुसार हर 10 में से 1 लड़की यूके में पैड अफॉर्ड नहीं कर सकती. उन्हें यह जानकार आश्चर्य हुआ कि ऐसा यूके में हो रहा है.

अमिका का कहना है कि इस वजह से वह लड़कियां न्यूजपेपर, गंदे कपड़े, रूमाल, मोजे आदि इस्तेमाल कर रही थीं. इनसे उनके स्वास्थ्य पर भी गंभीर असर पड़ रहा था और सरकार कुछ नहीं कर रही थी.