Home Crime News वीरेंदर सहवाग की पत्नी आरती को मिली जमानत

वीरेंदर सहवाग की पत्नी आरती को मिली जमानत

35
0

नोएडा : पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंदर सहवाग की पत्नी आरती सहवाग ने अपनी कंपनी के पार्टनर्स पर फर्जीवाड़े का आरोप लगाया है। आरती का कहना है कि उनके फर्जी हस्ताक्षर का इस्तेमाल कर पार्टनर्स ने 4.5 करोड़ रुपये का लोन लिया था और उसे चुकाया नहीं। उन्होंने कंपनी के 8 पार्टनर्स के खिलाफ फर्जीवाड़े का केस दर्ज कराया कराया है। 

आरती सहवाग का दावा है उन्हें पूरे मामले की कोई जानकारी नहीं थी, न ही उन्होंने कोई साइन किया है। पार्टनरशिप डीड में वह बतौर नॉन एक्टिव पार्टनर शामिल हुई थी। जब उनको साकेत कोर्ट में पेश होना पड़ा था, तो कोर्ट में उनको लोन के बारे में जानकारी मिली। आरती ने पार्टनर्स पर अपने और पति वीरेंदर सहवाग के नाम का गलत इस्तेमाल करने का भी आरोप लगाया है। 

उधर चेक बाउंस के मामले में उन्हें ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर स्थित जिला न्यायालय से जमानत मिल गई है। एसएमजीके एग्रो प्रॉडक्ट कंपनी ने लखनपाल प्रमोटर्स एंड बिल्डर कंपनी को एक ऑर्डर पूरा नहीं करने के बाद पिछले साल ढाई करोड़ रुपये का चेक दिया था, जो बाउंस हो गया था। आरती एमएसजीके में पार्टनर हैं। जिला कोर्ट में वाद दायर होने के बाद उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था, जिसको लेकर आरती सहवाग शुक्रवार को न्यायालय में पेश हुईं। 

अधिवक्ता सूर्यप्रताप सिंह ने पूरे मामले में जानकारी देते बताया कि लखनपाल प्रमोटर्स एंड बिल्डर कंपनी ने दिल्ली के अशोक विहार स्थित एसएमजीके एग्रो प्रॉडक्ट कंपनी के पास रुपये जमा कराकर वर्क ऑर्डर दिया था। लेकिन, एसएमजीके कंपनी यह ऑर्डर पूरा नहीं कर सकी। इसके बाद एसएमजीके कंपनी को लखनपाल प्रमोटर्स को राशि वापस करनी थी, जिसके लिए एसएमजीके ने लखनपाल प्रमोटर्स को ढाई करोड़ रुपये का चेक दे दिया। जैसे ही लखनपाल प्रमोटर्स ने बैंक में चेक लगाया तो वह बाउंस हो गया था। इसके बाद लखनपाल प्रमोटर्स ने एसएमजीके को कानूनी नोटिस भेजा, लेकिन उसका भी जवाब नहीं दिया गया।